High Protein Diet Side Effects in Hindi
हेल्थ

अत्यधिक प्रोटीन की मात्रा बिगाड़ सकती है आपके स्वास्थ्य को, जाने कैसे

शरीर के लिए बिल्डिंग ब्लॉक्स के रूप में जाने जाने वाले प्रोटीन हमारे शरीर के लिए महत्वपूर्ण होते हैं, यह हमारे ग्रोथ और शरीर की डैमेज भाग को रिपेयर करने में अहम भूमिका अदा करता है। प्रोटीन हमारे शरीर के लिए कितना महत्वपूर्ण है यह तो अब आप समझ ही गए होंगे लेकिन प्रोटीन की यदि उचित मात्रा ही लें तो यही बेहतर है परंतु एक सीमित मात्रा से ज्यादा प्रोटीन का सेवन किया जाता है तो यह शरीर के लिए नुकसानदायक साबित होता है। अधिकतर लोग समझते हैं कि प्रोटीन के अधिक सेवन से सबसे ज्यादा हमारा लीवर प्रभावित होता है परंतु लीवर के साथ-साथ शरीर के अंग भी प्रोटीन के अधिक सेवन से प्रभावित होते हैं। आपको बता दें कि प्रोटीन के लिए एक औसतन और संतुलित आहार ही बेहतर है सीमित मात्रा से ज्यादा सेवन करने पर यह आपके स्वास्थ्य पर असर डाल सकती है। अब आपके मन में यह सवाल जरूर उठ रहे होंगे कि आखिर प्रोटीन की कितनी मात्रा शरीर के लिए सही है और क्या एक व्यक्ति को अपनी उम्र और वजन के अनुसार ही प्रोटीन का सेवन करना चाहिए ? तो ऐसे ही कई सवालों के जवाब आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से देंगे। तो चलिए अब शुरू करते हैं और सबसे पहले जानते हैं कि प्रोटीन क्या होते हैं।


क्या हैं प्रोटीन ?


प्रोटीन व्यक्ति के संपूर्ण शरीर का विकास करता है और सिर्फ विकास ही नहीं बल्कि शरीर को कई बीमारियों से भी दूर रखता है। प्रोटीन हमारे फूड के मेन न्यूट्रिएंट्स में से एक हैं जो अमीनो एसिड से बने होते हैं। इन्हें कोशिका का "बिल्डिंग ब्लॉक्स" भी कहा जाता है क्योंकि यह सेल्स के बढ़ने और उसकी रक्षा के लिए भी आवश्यक होते हैं। प्रोटीन हमारे आहार में मुख्य रूप से मांस, मछली, अंडा, सब्जियों और डेयरी उत्पादों में मिलता है।


क्या जरूरी है प्रोटीन ?


प्रोटीन को लेकर मन में यदि यह सवाल उठ रहे होंगे कि क्या यह शरीर के लिए आवश्यक है तो हम आपको बता देते हैं कि यह बहुत ही शरीर के लिए बहुत ही ज्यादा आवश्यक है। प्रोटीन हमारे शरीर में कोशिका निर्माण और उन्हें तंदुरुस्त रखने में अहम रोल निभाता है। नियमित रूप से प्रोटीन के सेवन से कोशिका को एक उचित आकार मिलता है जो कोशिका को एनर्जेटिक व शक्ति प्रदान करता है। यह एक जरूरी पोषक तत्व है जो हमारे शरीर को तंदुरुस्त और रिपेयरिंग करने में मदद करता है।


शरीर के लिए कितना प्रोटीन है आवश्यक ?


अब हम एक व्यक्ति के लिए एक दिन में प्रोटीन की आवश्यकता की बात करें तो एक वयस्क पुरुष को एक दिन में करीब 56 ग्राम प्रोटीन की आवश्यकता होती है जबकि महिलाओं के लिए एक दिन में 46 ग्राम प्रोटीन जरूरी है। यानी कि प्रतिदिन के हिसाब से हमें प्रोटीन की एक उचित मात्रा लेनी आवश्यक है, यह उचित मात्रा 56 ग्राम पुरुषों में एवं 46 ग्राम प्रोटीन महिलाओं के लिए आवश्यक है। हालांकि स्वास्थ्य विशेषज्ञ मानते हैं कि व्यक्ति अपने शरीर के वजन और सक्रिय दिनचर्या के अनुसार प्रोटीन ले सकते हैं।


शरीर के लिए क्यों जरूरी है प्रोटीन ?


  • अगर शरीर के लिए क्यों जरूरी है प्रोटीन और शरीर के कौन-कौन से भाग के लिए प्रोटीन आवश्यक है?
  • हमारे लंबे घने बालों व हमारे सुंदर नाखूनों के लिए प्रोटीन की बेहद आवश्यकता होती है।
  • त्वचा, हड्डियों और मांसपेशियों को स्वस्थ रखने के लिए प्रोटीन जरूरी होता है।
  • शरीर में टिशु बनाने और उनके रिपेयर के लिए प्रोटीन आवश्यक है।
  • आरबीसी के माध्यम से पूरे शरीर में ऑक्सीजन पहुंचाने का काम भी प्रोटीन द्वारा ही किया जाता है।


प्रोटॉन की इतनी अधिक विशेषता हमारे शरीर में होती है कि हम कह सकते हैं कि हमारे शरीर के लिए प्रोटीन बेहद आवश्यक है जिससे हमारा शरीर निरंतर कार्य करता रहता है।


प्रोटीन के ज्यादा सेवन से क्या है नुकसान ?


प्रोटीन की एक औसत मात्रा शरीर के लिए बेहद लाभकारी होती है परंतु यदि यह मात्रा औसत से अधिक बढ़ जाती है तो यह हमारे सभी के लिए कई ज्यादा समस्याएं पैदा कर सकती है। प्रोटीन की ज्यादा मात्रा के सेवन से क्या क्या नुकसान हमारे शरीर को हो सकते हैं इसके बारे में हम आज आपसे चर्चा करेंगे।


भार में वृद्धि 


प्रोटीन के बहुत अधिक सेवन से हमारे शरीर का वजन बहुत तेजी से बढ़ने लगता है। बहुत अधिक प्रोटीन शरीर में फैट के रूप में स्टोर हो जाता है जो शरीर के वजन को तीव्र गति से बढ़ाता है। इसलिए शरीर के वजन को मेंटेन करने के लिए जरूरी है कि एक सीमित मात्रा में प्रोटीन का सेवन किया जाए।


किडनी के लिए है नुकसानदायक 


प्रोटीन से किडनी को खतरा भी हो सकता है यह सुनने में भले ही आपको कुछ अजीब लग रहा होगा लेकिन वैज्ञानिक मानते हैं कि सुपर हाई प्रोटीन डाइट किडनी में जाने वाले रक्त से नाइट्रोजन को समाप्त करती है जिस वजह से किडनी को बहुत ज्यादा वर्क करना पड़ता है। बहुत ज्यादा वर्क करने से किडनी पर दबाव काफी बढ़ जाता है और एक समय के बाद किडनी काम करना बंद कर सकती है। तो अब आप यह बखूबी समझ गए होंगे कि प्रोटीन का हमारे शरीर में कितना महत्वपूर्ण रोल है। इसलिए प्रोटीन की एक सीमित मात्रा ही लेना बेहद जरूरी है।


डिहाइड्रेशन  


अध्ययन में यह बात सामने आई है कि प्रोटीन के बढ़ते सेवन से हाइड्रेशन के लेवल में बढ़ोतरी होने लगती है। इस अध्ययन के लिए पांच एथलीटों को शामिल किया गया जिन्होंने चार सप्ताह तक प्रोटीन का कम, औसत और अधिक सेवन किया। जिसके बाद यह बात सामने आई कि जैसे-जैसे प्रोटीन का सेवन बढ़ता गया वैसे ही शरीर में हाइड्रेशन के लेवल में कमी आती गई।


यूरिक एसिड इंक्रीज होता है 


एक उम्र के बाद जो व्यक्ति प्रोटीन का अधिक सेवन करता है तो उसके शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने लगती है। प्रोटीन के ज्यादा सेवन से यूरिन में कैल्शियम की मात्रा कम होने लगती है जिसके बाद शरीर में कैल्शियम की मात्रा ज्यादा बढ़ने पर किडनी में पथरी का खतरा बना रहता है। 


बढ़ता है कोलेस्ट्रॉल 


एक औसत मात्रा से अधिक प्रोटीन के सेवन से शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने लगता है। कोलेस्ट्रोल बढ़ने से व्यक्ति को हृदय से जुड़ी समस्याएं होने लगती है। एलडीएल कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने पर स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है इसलिए प्रोटीन की एक सीमित और औसत माता ही शरीर के लिए आवश्यक रहती है। प्रोटीन की ज्यादा मात्रा में सेवन से शरीर को कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

डिस्क्लेमर: यह टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं, इन्हे किसी डॉक्टर या फिर स्वस्थ्य स्पेशलिस्ट की सलाह के तौर पर न लें, बिमारी या किसी संक्रमण की स्थिति में डॉक्टर की सलाह से ही अपना इलाज करवाएं।